मौत का मोसम है

नयी वबा आई है

सॉस लेने पर बही एक साज़ा आई है

जान छोडती नही जान जाने तलक

ऐ इश्क तेरे टकर की बला अयी है